Showing posts with label FINOGRAPHY. Show all posts
Showing posts with label FINOGRAPHY. Show all posts

Wednesday, 5 June 2019

General Knowledge of share market,शेयर बाजार क्या है ,?What is Share Market? ,Share Bazaar Basics

PUSH YOURSELF , BECAUSE NO ONE IS GOING TO DO IT FOR YOU

शेयर बाजार क्या है ?What is Share Market? Share Bazaar Basics


Photo by Oleg Magni from Pexels


यह दौर स्टार्ट-अप और नए विचार के व्यापारों   का है. इनमें कई सफल होते हैं. कई असफल भी हो जाते हैं! 

दोस्तों अगर आप कोई भी व्यापार  शुरू करना चाहते हो तो आप को जरूरत पड़ती है पैसे की , अब अगर आप को एक छोटी सी कम्पनी  शुरू करनी है जिसमे कुछ लाख में ही काम बन जायेगा तो आप अपने रिश्तेदारों से या बैंक से पैसा ले सकते हो पर अगर आप को बहुत ज्यादा पैसा चाहिए तो हो सकता है कोई  बैंक या रिश्तेदार आप को पैसा दे दे , पर रिश्तेदार दूसरे ही महीने से आप को पैसे लौटाने को कह देगा और बैंक भी आप से E M I काटना शुरू कर देगा ! 

Photo by Tookapic from Pexels
अब आप व्यापार तो बड़ा खोलना चाहते हो , और व्यापार में लाभ कमाने में कई बार दो से तीन साल लग जाते हैं  तो बैंक से अगर पैसे ले लिए तो    E M I  भरना आप को मुश्किल हो जाएगा !

अब ऐसे समय में बात आती है Investor की , आप को एक ऐसे आदमी की जरूरत होती है जो आप के साथ आप की कम्पनी  में पैसा लगाए और बदले में जब आप को मुनाफा हो तो पहले से नियुक्त लाभ उस का और बाकी आप का पर इस के लिए आप को अपनी कंपनी को सांझेदारी कंपनी में बदलना होगा ! 

Photo by Erik Scheel from Pexels
मान लिया अब आप की कंपनी चल दे पर अभी भी  को मुनाफा काम ही हो रहा है (क्योंकी कम्पनी नई है )और  आप कंपनी को और बढ़ाना चाहते हो तो ऐसे में आप की सहयाता के लिए आगे आती हैं वेंचर कैपिटलिस्ट कंपनियाँ जो आप की साँझेदारी कंपनी में पैसा लगाने के लिए तैयार हो जाती हैं  और बदले इन्हें आप की कंपनी में शेयर मिल जाता है बाद में जिसे बेचकर वह अपना पहले से नियुक्त 20 या 30% मुनाफा ले लेती है !

Photo by rawpixel.com from Pexels
मैनेजमेंट, कारोबार योजनाओं और ग्रोथ के अनुमानों का मूल्यांकन करने के बाद ही वेंचर कैपिटलिस्ट किसी वेंचर में पैसे लगाने का फैसला करते हैं,वेंचर कैपिटलिस्ट कंपनी को केवल आर्थिक रूप से सहारा नहीं देते हैं, बल्कि महत्वपूर्ण मामलों में कंपनी का मार्गदर्शन भी करते हैं, यह परामर्श तकनीकी या प्रबंधन से जुड़ा हो सकता है. कंपनी को आगे ले जाने में यह सहायक साबित होता है!

लेकिन आप के व्यापार में वेंचर कैपिटलिस्ट कंपनियाँ तभी पैसा लगाती हैं  जब आप का व्यापार एक कंपनी का रूप ले ले !

Photo by Pixabay from Pexels
अब आप ने वेंचर कैपिटलिस्ट कंपनियों  से भी पैसे ले लिए और बदले में उन्हें 30 % हिस्सेदारी दे दी !अब आप को मुनाफा होने लग गया है !पर अब आप अपनी कंपनी को और बढ़ाना चाहते हो और आप को और ज्यादा पैसा चाहिए (अब भी आप बैंक नहीं जा सकते क्योंकि आप अब भी EMI नहीं दे सकते )तो अब आप को वेंचर कैपिटलिस्ट कंपनियाँ अब पैसा नहीं देंगी , अब आप के पास एक ही तरीका रह जाता है लोगों से पैसा उठाने का मतलब 10 -10 ,20 -20 हजार हमारे जैसे लोगों  से उठाने का ,जिससे आप कितना भी पैसा जुटा  सकते हो ! 

Photo by energepic.com from Pexels
तो हम लोगों  से इस कंपनी को पैसा कैसे मिलेगा इस के लिए अब शेयर बाज़ार आगे आता है ! यह वह जगह है जहाँ  कम्पनियाँ आम जनता हो अपनी हिस्सेदारी अदा करती है जहां हम किसी भी कंपनी के शेयर ले सकते हैं ! कम्पनियों के एक शेयर का मूल्य होता है जिसे अदा करने पर हमें उस कंपनी में हिस्सेदारी मिल जाती है !

हम  खरीदकर उस कंपनी के मालिक हो गए ! जो लोग अपना किसी भी तरह का कोइ भी व्यापार खोलना चाहते हैं  पर पैसा न होने पर इसे नहीं कर पा रहे तो वे भी अपने मनपसंद कंपनी के शेयर खरीदकर अपना मनचाहा व्यापार कर सकते हैं  कोइ बात नहीं आप का उस व्यापार में कुछ शेयर ही सही !

कम्पनी अपनी  व्यापार  योजना ,लाभ ,हानी और किस ने कंपनी में कितना पैसा लगाया है आप को बताती है और इसी पर अपने शेयर का मूल्य भी आप को बताती है आप को कंपनी के प्रदर्शन को देखकर ही पैसा लगाना है !
जब कंपनी ऐसा करती है तो इसे कम्पनी का prospectus  कहते है जिसे दिखाकर कंपनी आप से पैसा उठाती है  जब कंपनी अपना prospectus  लेकर आती है और उस के बदले पैसा जुटाती है तो इसे कहते हैं Initial Public Offer  या IPO !

Photo by Lukas from Pexels
IPO का मतलब है की कंपनी पहली बार जनता से पैसे मांग रही है !अब आपने कंपनी के IPO तो खरीद लिए और कंपनी चल पड़ी  आप के पास कंपनी के शेयर आ गए ,लेकिन कुछ समय बाद आप मुनाफा लेकर उन शेयरों को बेचना चाहते हो तो कंपनी तो आप को पैसा नहीं देगी आप को अपने शेयर बेचने हैं ऐसे में शेयर बाजार आप  की मदद करेगा इसे  हूँ Nifty या Sensex या NSE  और BSE  भी कहते है (इस के बारे में पढ़ने के लिए आप को मेरा पहले का लेख पढ़ना होगा ) , शेयर बाजार एक ऐसी जगह है जहाँ आप की ही तरह के कई लोग शेयर खरीदना और बेचना चाहते हैं  तो आप अपने शेयर बेचेंगे तो कोइ खरीद लेगा !

अगर आप को Ranbaxy के शेयर खरीदने हैं तो कंपनी का IPO तो बार बार नहीं आएगा तो आप को NSE  या BSE  से उस के शेयर खरीदने होंगे अब आप ये शेयर कैसे खरीदेंगे इसके लिए आप के पास चाहिए ट्रेडिंग
Photo by Pixabay from Pexels
खाता 
 यह खाता दो प्रकार का होता है एक होता है Demat Account और दूसरा होता है Treading Account (इन के बारे में मैं आप को पाने आगे आने बाले लेख में बताऊँगा )जहाँ  आप शेयर खरीद व बेच सकते हो !ये दोनो accounts खोलने के लिए आप को Broker की जरूरत होगी जो आप से कुछ प्रभार लेकर आप का account  खोल देगा !(इस के बारे में भी मेरा लेख आएगा)आप को अपना Bank का अकाउंट ट्रेडिंग अकाउंट के साथ जोड़ना होता है और सामान्य से तरीके से आप शेयर खरीद व बेच सकते हो !

शेयर से कैसे कमाते हैं यह मैं आप को अगले हफ्ते के लेख में बताऊंगा !

धन्यवाद 

आज का लेख आप को कैसा लगा comment  जरूर करें !Share  और like  करना न भूलें !

आज की wishes  के लिए click करें 

 For option Trading Click here

          Family problems and solutions.To know more Click Here




 Visit https://www.thefoodieways.com for knowledge

Sunday, 19 May 2019

learn to invest General Knowledge,शेयर बाजार के बारे में सीखें ! EPS क्या होता है ??इसे कैसे मापा जाता है ??

PUSH YOURSELF , BECAUSE NO ONE IS GOING TO DO IT FOR YOU

learn to invest General Knowledge
शेयर बाजार   के बारे में सीखें !  EPS क्या  होता है ?? इसे कैसे मापा जाता है ?? 


दोस्तों स्वागत है आप का , मेरे इस स्कंध में मै आप को शेयर बाजार के बारे में बताऊँगा तो दोस्तों मेरा यह लेख अगर आप को पसंद आए तो  COMMENT जरूर करें और  SHARE, LIKE करना ना भूलें !!

EPS  :- EPS का मतलब है EARNING PER SHARE  मतलब एक शेयर पर एक साल में कितनी कमाई होती है !!

इस का मतलब है अगर  EPS 10 है तो 1 शेयर कि खरीद पर आप को एक साल में 10 कि कमाई होगी !!

मापने का सूत्र  :- 

EPS =    NET PROFIT-PREFERRED DIVIDEND/ NUMBER OF SHARES


जब कोई कम्पनि इक्ट्ठा करना चाहती है तो वह या तो लोन लेती है या शेयर बेचती है या दोनों करती है !  SHARE दो प्रकार के होते हैं  EQUITY SHARES  और  PREFERENCE SHARES  !

मान लीजिये कम्पनि A का  NET PROFIT है 200000 रूपये, जो कि सब तरह के खर्चे निकालकर आता है ! और उस में से वह 50000 रूपये PREFERRED DIVIDEND  के रुप में रखती है और उस के कुल शेयर हैं 10000 तो उस कम्पनी का EPS=>

EPS =                  200000-50000      =   150000   =   15
                    10000                    10000

अब आप मान लो कम्पनी के एक शेयर का मूल्य है 100 रूपये और आप उस के 100 शेयर खरीद लेते हो तो 1500 i.e (EPS x No of Shares) कमाने के लिए आप को उस कम्पनी में 10000 रूपये लगाने होंगे !

दोस्तों किसी भी कम्पनी में अपना पैसा लगाने से पहले उस कि  FINANCIAL ANALYSIS जरूर कर लें ! किसी भी कम्पनी कि  FINANCIAL ANALYSIS करने के लिए कई  RATIOS ध्यान में रखने होते हैं उन में से  EPS एक है ! पैसा आप का है और बाजार में पैसा लगाना जोखिमों के अधीन है !

आप को आज का लेख कैसा लगा जरूर करे तथा   और करना ना भूलें !


 Visit https://www.thefoodieways.com for knowledge

Monday, 13 May 2019

Learn to invest General Knowledge,NIFTY और SENSEX को कैसे ज्ञात करते हैं ?? HOW NIFTY AND SENSEX CALCULATED

PUSH YOURSELF , BECAUSE NO ONE IS GOING TO DO IT FOR YOU
Learn to Invest General Knowledge
NIFTY और SENSEX को कैसे ज्ञात करते हैं ??
HOW NIFTY AND SENSEX CALCULATED

दोस्तों जब किसी कम्पनी को  CAPITAL कि जरूरत होती है तो वह या तो  लोन लेती है या अपने शेयर आम जनता को बेच देती है ! शेयर का मतलब है बाँटना ! कोई भी कम्पनी पूंजी पैदा करने के लिए बाजार में शेयर बेचती है ! यह शेयर दो तरह के होते हैं ! इन शेयरों के बारे में मैं आप को अपने अगले लेख में बताऊँगा ! आज हम सीखेंगे  NIFTY और  SENSEX कैसे मापा जाता है ! दोस्तों मान लीजिये A  और B दो कम्पनियाँ हैं !

Calculation of total market capitalisation of company 'A'

Let total shares of company'A'=150 (100 are for General Public                                                                and 50 are held by management)

Price per share of company 'A'= 20

Total market capitalization of company A =150 x 20=3000

2003 से पहले  Total market capitalization  को माना जाता था !पर उस के बाद से Free Flow Market capitalization को माना जाने लगा !  Total market capitalization और Free Flow Market capitalization में फर्क बस इतना है कि Total market capitalization में Management के शेयर ध्यान में लिए जाते हैं पर Free Flow Market capitalization  में ये शेयर ध्यान में नहीं लिए जाते! तो  Company 'A' का कुल Free Flow market Capitalization   हुआ  :- 100 x 20 = 2000

अब

Total Free Flow market Capitalization of company 'A'=2000

मान लो Total Free Flow market Capitalization of company 'B'=3000

तो पूरे बाज़ार का कुल Free Flow Market Capitalization                    => 3000+2000=5000 

SENSEX मापने के लिए हम  Base Index  लेते हैं और मान लो हम  10 साल पहले से  इसे माप रहे हैं,मान लो उस समय मूल्य था 1000 तो आज वह 1000 ,100 के बराबर हुआ !1000/10=100
अब Total Free Flow market Capitalization 5000=500

इसी तरह अगर कम्पनी A के शेयर 20 रुपए बढ जाते हैं तो Total free flow market capitalization of company                                'A'=100 x (20+20)=4000

Total market capitalization of market =4000+3000=7000
अब आज का  SENSEX हुआ 700 के बराबर !


अगर सेंसेक्स ऊपर जाता है तो इस का मतलब है कि सेंसेक्स में ली गयी पहली 30 कम्पनियों कि   Financial Performance अच्छी है और लोग शेयर खरीद रहे हैं इसे   Bull market   भी कहते है !और अगर सेंसेक्स नीचे जाता है तो इस का मतलब है कि सेंसेक्स को मापने के लिए ली गई 30 कम्पनियों कि  Financial Performance अच्छी नहीं है और लोग शेयर बेच रहे हैं इसे   Bear market भी कहते हैं !

तो दोस्तों आज का यह लेख आप को कैसा लगा   COMMENT जरूर करें और SHARE  करना ना भूलें ! 

THANKYOU



 Visit https://www.thefoodieways.com for knowledge

Thursday, 9 May 2019

Learn to Invest General Knowledge,WHAT ARE NIFTY AND SENSEX,NIFTY और SENSEX क्या है ???

STOCK EXCHANGES
Learn to Invest General Knowledge


नमस्कार दोस्तों इस पृष्ठ में मैं आप को शेयर बाजार के बारे में बताऊँगा और रोज आप को कुछ अच्छे शेयरों के बारे में भी बताऊंगा जो आप खरीद सकते हैं ! लेकिन अपना पैसा शेयर बाजार में डालने से पहले यह याद रखें कि यह आप का पैसा है और शेयर बाज़ार एक उतार चढाव बाला बाजार है तो सोच समझकर ही फैसला करें ! शेयर बाजार जोखिमों के अधीन है !



तो आज शुरू करते हैं अधारभूत ज्ञान से ! दोस्तों आप रोज सुनते होंगे आज NIFTY इतना ऊपर चला गया , आज SENSEX इतना ऊपर चला गया ! तो ये  है क्या ?????????यह कैसे ऊपर नीचे जाता है! यह कैसे नापा जाता है ?????? तो आगे चलाते हैं और NIFTY के बारे में जानने से पहले आप को पता होना चाहिये कि शेयर बाजार होता क्या है ????? 





शेयर बाजार : यह वह जगह है जहाँ शेयर को खरीदा और बेचा जाता है ! भारत में दो बडे शेयर बाजार हैं ! BSE और NSE मतलब BOMBAY STOCK EXCHANGE और NATIONAL STOCK EXCHANGE


BSE :     BSE 1875 में स्थापित हुआ और यह एशिया का सबसे पुराना शेयर बाजार है और यह दुनिया का 11 वाँ बडा शेयर बाजार है ! यह दलाल गली मुम्बई में स्थित है और इस में 5500 से ज्यादा कम्पनियाँ सूचीबद्ध हैं !BSE के INDEX को सेंसक्स कहा जाता है और इस INDEX को ECONOMIC GROWTH पर मापी गई 30 कम्पनियों कि GROTH पर मापा जाता है ! BSE के INDEX को मापने के लिए 100 को BASE माना जाता है ! 



NSE : NSE को NATIONAL STOCK EXCHANGE कहा जाता है ! इस कि स्थापना 1992 में हुई ! यह 10 वाँ बडा शेयर बाजार है ! इस बाजार में लगा है और यह मुम्बई में ही स्थित है ! इस में 1600 कम्पनियाँ सूचीबद्ध हैं ! इस के INDEX को NIFTY कहा जाता है और इस का सुचिकांक पहली 50 कम्पनियों कि GROWTH पर निकाला जाता है ! INDEX को मापने के लिए BASE बर्ष 1995 को और BASE VALUE 1000 के अंक से ली जाती है ! 



दोस्तों इसी तरह कुछ अंतर्राष्ट्रीय शेयर बाजार भी हैं जैसे US का NEW YORK STOCK EXCHANGE और जापान का JAPAN EXCHANGE GROUP !


दोस्तों कल हम BEAR मार्केट और BULL मार्केट के बारे में सीखेंगे ! तो आप को यह लेख कैसा लगा COMMENT जरूर करें ! और कोई भी सवाल हो तो COMMENT   में जरूर पूछें ! 

धन्यवाद !!!
 Visit https://www.thefoodieways.com for knowledge
 Visit https://www.thefoodieways.com for knowledge